Advertisement

ADVT

Friday, November 16, 2018

किसी को इतना माहत्व नही देना चाहिए, कि वह आपके चेहरे की मुस्कान छीन ले।


www.lovesitzone.in



स्वागत हैं दोस्तों आपका हमारे ब्लॉगर पर। आज मैं आपसे एक विशेष विषय पर बात करना चाहता हूँ।
प्यार वह एहसास है जिसको सभी व्यक्ति कोसी न किसी के लिए अपने जीवन में महसूस करते हैं जोकि एक प्यारा और अनोखा एहसास होता है अगर कोई किसी से प्यार करता है तो उसके लिए उस इंसान का एक जिक्र ही उसके चेहरे पर ख़ुशी और मुस्कान ला देता है। जिसके यही कारण होता है कि वह व्यक्ति उस इंसान से बेपनाह मोहब्बत करता होता है लेकिन कुछ लोगों के इस प्यार भरे एहसास के पीछे कुछ ग़म भी होते हैं जिसको छिपाने के लिए लोग ख़ुश का एहसास कराते हैं लेकिन अधिक समय तक वो ऐसा करने में सक्षम नही हो पाते हैं क्योंकि वो ख़ुशी मन की नही बल्कि सिर्फ अपने ग़म को छिपाने के लिए होती है। जैसा कि आप जामते होंगे जरूरत से ज्यादा हर चीज़ नुक्सानदायक होती है। फिर चाहे वो आपका किसी के लिए प्यार ही क्यों न हो? और यही कारण है कि किसी को इतना ज्यादा माहत्व नही देना चाहिए या अपनी खुशियोँ को दबाकर प्यार या रिश्ते ही अहमियत नही देनी चाहिए कि बाद में वही आपके चेहरे की मुस्कान छीन ले। अक्सर हम किसी को इसलिए इतना माहत्व देते हैं क्योंकि हम जानते होते है कि खुद के अच्छे व्यवहार और प्यार के कारण ही रिश्ता अच्छा व्यतीत हो सकता है। लेकिन यह भूल जाते हैं कि, किसी भी रिश्ते को चलाने दोनों तरफ से प्यार का संतुलन बना रहना जरूरी होता है।

हम किसी इंसान को तभी उतना माहत्व देते हैं जब उसके बारे में कुछ अच्छा या साकरात्मक सोचते हैं जोकि एक स्पष्ट शब्दों में कहा जाये तो वह प्यार है! लेकिन में वह व्यक्ति का प्यार जब किसी दूसरे व्यक्ति या उसकी ज्यादा चिंता होने के कारण, प्यार को समझ ना पाना ही चेहरे की मुस्कान छीन लेता है। जिसके कारण खुद को लोगो द्वारा उसके स्वार्थी होना या उसकी जरूरत होना और भी अन्य तरह की नकारात्मक बातें, "आपके मन में ऐसी बातें ना होने पर भी", आपके लिए लोगों के मन में ऐसी बातें आने लगती हैं। जिसकी वजह से लोग आपकी सकारात्मक सोच को भी नकारात्मक सोच समझ लेते हैं और इसी कारण की वजह से अक्सर ऐसा होता है कि आप जिसको जीवन में अधिक महत्व देते हैं वही आपकी हंसी छीनने का कारण बन जाता है। इंसान का प्राकृतिक व्यवहार होता है कि वो जिससे भी प्यार करता हैं उन सभी को अधिक से अधिक महत्व देना चाहता हैं। लेकिन असल ज़िन्दगी में आपके इसी अधिक महत्व की प्रमुखता समाप्त हो जाती है। जिसकी वजह से आपकी हँसी खो जाती हैं। उसी व्यक्ति के वजह से जिसको आपने जीवन में अधिक महत्व दिया। किसी रिश्ते के प्रति बने एहसास या माहत्व को अपने मन में ही रखना चाहिए जिसके कारण आपके लिए दूसरे के मन में भी प्यार और चेहरे की मुस्कान भी बनी रहती है।

दोस्तों, आपको पोस्ट कैसा लगा कमेंट करके अवश्य बताएं। और अधिक पोस्ट के लिए हमारे ब्लॉगर को सब्सक्राइब करें।
-धन्यवाद्!

No comments:

Post a Comment

Ad