Advertisement

Thursday, December 6, 2018

भारत के पांच ऐसे ख़ज़ाने जिसको पाकर आप हो जायेंगें रातो- रात अमीर

www.lovesitzone.in

जो भी लोग ख़ज़ानों से जुड़े सुलझे- अनसुलझे रहस्यों के बारे में सुना होगा तो सुनने के बाद उनके मन में ऐसी इच्छा और हुई होगी कि आखिर इतना खज़ाना भारत में कहाँ पर होगा आखिर भारत में छिपे इन ख़ज़ानों का क्या रहस्य होगा?
तो, इसलिए आज मैं आपको 5 ऐसे भारतीय ख़ज़ानों के बारे में बताऊंगा जिसको पाने के बाद भारत में हर एक व्यक्ति रातों रात अमीर बन सकता है और भारत एकबार फिर से भारत का नाम सोने की चिड़िया पड़ सकता हैं। 
भारत एक बहुत ही विशाल धार्मिक और संस्कृति वाला देश है। जिसमे बहुत बड़े- बड़े राजा- महाराजा, साधू-सन्त और बुद्धिजीविओं का जन्म हुआ है। इसके अंदर सभी प्रकार की प्रजाएं भी रहती हैं, फिर चाहे वह अमीर हो या ग़रीब। एक समय ऐसा भी था जब भारत को सोने की चिड़िया कहा जाता था, क्योंकि भारत सबसे धनि देश और सबसे ज्यादा सोना पाया जाने वाला देश था और इसलिए लोग सोने का उपयोग भी बहुत अधित करते थें। लेकिन,
एक समय ऐसा आया कि, भारत से वह सभी सोना लूट लिया गया। और भारत में होने वाले कुछ युद्धों की वजह भी यही रही कि भारत में सोने, चाँदी की वजह से आक्रमण भी बहुत हुए। भारत से सोना- चाँदी लूटने के बाद उन्होंने हमारे भारतवर्ष की सुख- शान्ति और सम्प्रदा का भी बहुत नुकसान पहुचाया। भारत से कितना भी सोना लूट क्यों ना लिया गया हो लेकिन भारत में इतनी अधिक मात्रा में ख़ज़ाने छिपे हुए हैं जिसका आप कभी भी अंदाज़ा नही लगा सकते हैं और आज इस पोस्ट में हम आपको 5 ऐसे ख़ज़ानों के बारे में बतायेंगें जो हैं तो हिंदुस्तान में ही लेकिन आज तक उसका पता नही लगाया जा सका है। 

www.lovesitzone.in
1.कृष्णा नदी का खज़ाना ( गोलकुंडा का खज़ाना)

कृष्णा नही के किनारे बसा हुआ है गोलकुंडा! यह हैदराबाद की एक तहसील है। गोलकुंडा में एक बहुत बड़ा किला है जो गोलकुंडा नाम से जाना जाता है। जो ई• 1518- 1687 तक क़ुतुबशाही वंश की राजधानी हुआ करता था। यह जगह दुनिया भर में हीरों की खाद्यानों के कारण मशहूर हुआ करती थी। क्योंकि दुनिया का सबसे क़ीमती और मशहूर हीरा यही से निकाला गया। ऐसा कहा जाता है कि गोलकुंडा की खाद्यानों में आख़िरी बार खुदाई 14वीं शताब्दी में की गयी थी और तबतक भारत ही दुनिया भर में एक ऐसा देश था जहाँ पर दुनिया भर के
मशहूर हीरे पाये जाते थें। 
हीरों की खाद्यान कहाँ थी अभी तक इसका पता नही लगाया जा सका है लेकिन यह खाद्यानें कृष्णा नदी के तट पर ही थी इसका पता अवश्य लगाया जा चुका है और कहा जाता है कि खाद्यानों से निकाले हुए हीरे आज भी नदी के तल में पड़े हुए हैं। 

www.lovesitzone.in
2. नादिरशाह का खज़ाना 



नादिरशाह जब 1736 इश्पूर्व  ईरान का शाशक बना तो उसने 50 हज़ार सैनिकों के साथ भारत पर आक्रमण किया। क्योंकि उसका मकसद भारत के खजाने को लूटना और दिल्ली पर राज करना था और उस आक्रमण में उसने बहुत से लोगों को मारा और ख़ूब लूट मचाई। जब वह खज़ाना लूटकर जा रहा था तो उसके साथ 240 किलोमीटर तक लोगों की लाइन लग गयी। कहा जाता है कि ख़ज़ाने को लूटकर जाते समय जब रात को सोने के लिए वह तम्बू में आराम कर रहा था तो वही सैनिकों ने उसकी हत्या कर दी। और खज़ाना रहमत-शाह-दुर्रानी के हाथ लग गया। जिसके बाद लोगों का ऐसा मनना था कि रहमत- शाह- दुर्रानी की तबीयत ख़राब होने के कारण मौत हो गयी।
लेकिन मरने से पहले उसने उस ख़ज़ाने को ऐसी जगह छिपा दिया, जिसके अंदर बहुत सा सोना- चाँदी और बहुत सी स्वर्ण मुद्राएं थी। लेकिन उस ख़ज़ाने के बारे में अभी तक पता नही लगाया जा सका है। 

www.lovesitzone.in
3.मीर उस्मान अलि का खज़ाना

मीर उस्मान अली एक बहुत बड़े राजा थें। वह हैदराबाद का निज़ाम हुआ करता था। उस समय वह इतने बड़े राज्य पर शाशन करता था कि वो इंग्लैंड के बराबर था। सन् 2008 में For Magzine ने उन्हें दुनिया का सबसे अमीर राजा बताया था और Time Magzine ने भी सन् 1937 में उनको सबसे अमीर आदमी बताया था। वह हैदराबाद में किन कोटि में रहता था और अपना खज़ाना भी वो उसी कमरे के तहखाने में रखता था। 1933 में जब हैदराबाद भारत का हिस्सा बना तब सरकार ने उसके ख़ज़ाने का कुछ हिस्सा तो हासिल कर लिया लेकिन उससे कई गुना ज्यादा ख़ज़ाने का पता अभी तक नही लग पाया है। लोगो का कहना है कि आज के समय में उसका खज़ाना इतना ज्यादा है कि उसकी कीमत $33 बिलियन है। 

www.lovesitzone.in
4.ग्रोसवेन जहाज़ का खज़ाना 



ग्रोसवेन ब्रिटिश इष्ट इंडिया कंपनी का सबसे बड़ा और अमीर जहाज़ था। इस जहाज़ के अंदर 14 सोने की सिल्लियां और 19 संदूकों के अंदर सोने- जवाहारात भरे हुए थें और इनसब के साथ ही 26 लाख़ सोने के सिक्के थें। यह जहाज़ चेन्नई से इंग्लैंड के लिए श्रीलंका के रास्ते रवाना हुआ लेकिन 782 में दक्षिणी अफ्रीका केप्टोन से 700 मील दूर समुद्र में डूब गया और लोगों का मनना है कि वह भारतीय खज़ाना आज भी समुद्र के अंदर डूबा पड़ा हुआ है। इस खाजाने को बहुत बार ढूँढने की कोशिश की गयी लेकिन आजतक इसको कभी नही ढूँढा जा सका , कि वह समुद्र के किस कोने में है?

www.lovesitzone.in
5.पद्बनाभ् स्वामी मन्दिर का खज़ाना



यह मन्दिर केरल में है और दुनिया में सबसे अधिक पैसे वाला हिन्दू मन्दिर है। यह मन्दिर उस समय चर्चे में आया जब सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर इसका भूमिगत कमरा खोला गया जिसके अंदर 6 तिजोरियां थीं जिनको खोल दिया गया और सरकारी आँखों के सामने इतना खज़ाना था कि कोई इसकी कल्पना भी नही कर सकता। 
इसमें इतने सोने- चाँदी, हीरे- जवाहरात बहुत कुछ उस ख़ज़ाने में था। जिसकी कीमत $ 22 अरब लगाई गयी। लेकिन छठी तिजोरी खोलना अभी बाकी है लेकिन Hindu Times of Magzine के अनुसार इस छठी तिजोरी के द्वार पर एक सांप का मुख है जिसको खोलना एक बुरा संकेत है। इस तिज़ोरी का क्या राज़ है ? आजतक नही पता लेकिन कहा जाता है उस छठी तिज़ोरी में उन 5 तिजोरियों से भी ज्यादा खज़ाना है। 
आपको पोस्ट कैसा लगा कमेंट करके अवश्य बताएं।

No comments:

Post a Comment

Ad